गंगा दशहरा पर पुलिस के साथ यूपी से आए हुए लोगों ने की मारपीट ,बंदूक दिखाकर जान से मारने की थी धमकी,पुलिस कर्मी घायल,फिर………

खबर शेयर करें -

हरिद्वार में गंगा दशहरा पर भारी भीड़ के बीच हाइवे पर एक गाड़ी का चालान करने पर हंगामा खड़ा हो गया। आरोप है कि यात्री परिवार ने पुलिसकर्मियों की वर्दी का कॉलर पकड़ लिया और गाली-गलौच करते हुए मारपीट की गई। जिससे दारोगा व सिपाही घायल हो गए। आरोप है कि पिस्टल दिखाकर गोली मारने की धमकी भी दी गई।

पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक, गंगा दशहरा के दौरान हाइवे पर वाहनों की भारी भीड़ रही। ज्वालापुर क्षेत्र में एक पुलिस टीम हाइवे पर वाहनों को सुचारू कराने में जुटी थी। उसी दौरान हरिलोक तिराहे पर हाइवे पर खड़ी एक गाड़ी का चालान करने पर हंगामा खड़ा हो गया।

यह भी पढ़ें -  केंद्रीय निर्वाचन आयोग के आदेश के बाद जिलाधिकारी नैनीताल ने इस मामले को लेकर एसडीम समेत 4 कर्मचारियों के खिलाफ जांच के इस अधिकारी को दिए निर्देश…

इस मामले में उपनिरीक्षक रविंद्र जोशी ने मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया कि गाड़ी नहीं हटाने पर नो पार्किग का चालान किया गया। जिससे कार में सवार लोग आक्रोशित हो गए। आगे की सीट पर बैठे युवक ने पुलिसकर्मियों को गाली देना शुरू कर दी और गाड़ी हटाने से भी इन्कार कर दिया। आरोप है कि कार में बैठी दो महिलाओं ने भी गाली-गलौच की और पुलिसकर्मियों के साथ माारपीट करने लगे। आरोप है कि वर्दी का कॉलर पकड़ते हुए धमकी दी। जिस कारण हरिलोक तिराहे पर यातायात बाधित हो गया।

यह भी पढ़ें -  कुछ दिन पहले अल्मोड़ा की युवती को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में युवक गिरफ्तार जाने पूरा मामला

सूचना पर कोतवाली प्रभारी रमेश तनवार मौके पर पहुंचे और समझाने का प्रयास किया। आरोप है कि यात्रियों ने कोतवाली प्रभारी का कॉलर भी पकड़ लिया और गाली-गलौच करते हुए मारपीट पर उतारू हो गए। आरोपियों ने उपनिरीक्षक रविंद्र जोशी और कांस्टेबल दिनेश के सिर पर डंडे से हमला किया। जिससे दोनों घायल हो गए।

आरोपित ने पिस्टल निकालकर गोली मारने की धमकी भी दी। बमुश्किल हंगामा शांत कराया गया। काफी पूछने आरोपितों ने अपने नाम गर्वित राठी, पिस्टल वाले युवक ने अपना नाम सतेंंद्र राठी, महिलाओं के नाम कनक राठी, मंजू राठी निवासीगण कंकरखेड़ा जिला मेरठ उत्तर प्रदेश बताए।

यह भी पढ़ें -  हल्दूचौड़ के इस बालक के होनहार अभिनय पर उत्तराखंड के दर्द और पलायन को लेकर बनाई गई फिल्म ने मचाई धूम,देखे वीडियो

मांगने पर आरोपित पिस्टल का लाइसेंस नहीं दिखा पाए। पुलिस ने पिस्टल कब्जे में ले लिया। कोतवाली प्रभारी रमेश तनवार ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। चारों को कोर्ट में पेश किया जा रहा है

Advertisement