बच्ची को आया सपना, परिजन समझ रहे थे मजाक, खोदाई की तो निकली भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति

खबर शेयर करें -

शाहजहांपुर में भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति (Lord Krishna found in excavation) मिलने के बाद लोगों का तांता लग गया है. भारी संख्या में लोग मूर्ति के दर्शन को पहुंच रहे हैं.

शाहजहांपुर में भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति मिलने का मामला सामने आया है. कक्षा आठ की एक छात्रा का दावा है कि उसे एक महीने से मूर्ति को लेकर सपना आ रहा था. उसके बाद उसके परिजनों ने जब इस स्थान पर खोदाई कराई तो भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति निकली. प्राचीन मूर्ति एक फीट ऊंची है और उसका वजन लगभग एक किलोग्राम है. मूर्ति मिलने के बाद गांव में पूजा शुरू हो गई है. सपना देखने वाली छात्रा को लोग देवी मान रहे हैं. गांव में श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती जा रही है और दूर-दूर से मूर्ति के दर्शन करने आ रहे हैं.

यह भी पढ़ें -  बिंदुखत्ता को राजस्व गांव का दर्जा दिलाने की दिशा में एक कदम और बढ़े आगे…………. आज हुई यह कार्रवाई

दरअसल, शाहजहांपुर निगोही क्षेत्र के सफौरा गांव में भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति मिलने का मामला सामने आया है. निगोही के सफौरा के रहने वाले विनोद अपने परिवार के साथ जनपद पीलीभीत में रहते हैं. पूजा कक्षा आठ की छात्रा है. पूजा ठाकुर का कहना है कि पिछले एक साल से गांव में मूर्ति गड़े होने का सपना आ रहा था. लेकिन, परिवार के लोग उसका मजाक बना रहे थे.

बार-बार सपना आने के बाद परिजनों ने पूजा ठाकुर के बताए गए स्थान पर करीब तीन फीट गहरी खोदाई की तो भगवान श्रीकृष्ण की करीब 1 फीट ऊंची मूर्ति मिली है. जिसका वजन लगभग एक किलोग्राम है. मूर्ति मिलने के बाद पूरे गांव में उत्साह का माहौल है. कुछ दूर स्थित ब्रह्मदेव स्थल पर प्रतिमा स्थापित कर दी गई और गांव में मूर्ति की पूजा पाठ शुरू हो गई है. मूर्ति देखने के लिए पूरे दिन लोगों की कतार लगी रही.

यह भी पढ़ें -  एक तरफा प्यार ने ले ली जान, घंटो ज़िंदगी – मौत की जंग लड़ी शिक्षिका – पढ़े खबर क्या था कसूर


पूजा ठाकुर ने बताया कि पिछले एक साल से भगवान श्रीकृष्ण उनके सपने में आ रहे थे. इसके बाद भगवान ने उनको सफौरा गांव के एक प्राचीन स्थान पर मूर्ति गड़े होने की बात बताई. पूजा ने बताया कि यह बात उन्होंने अपने परिजनों को बताई. लेकिन, उनके परिजन इस बात को मजाक में टाल देते थे. लेकिन, जब उन्हें यह सपना बार-बार आ रहा था तो उसके बाद वह अपने परिवार के साथ सफौरा पहुंची. गांव के किनारे बने मुड़िया खेड़ा स्थान के एक चबूतरे के किनारे खोदाई की गई. खोदाई में श्री कृष्ण भगवान की मूर्ति मिली. जिसके बाद भगवान श्रीकृष्ण की प्राचीन प्रतिमा को ब्रह्मदेव बाबा स्थान पर पूजा पाठ के साथ स्थापित कर दिया गया. पूजा ने बताया कि उनकी भगवान श्रीकृष्ण के प्रति अपार श्रद्धा है.

Advertisement