अयोध्या में होने वाले श्रीरामलला के प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आगमन को लेकर शनिवार की रात से अयोध्या जाने पर रोक लगा दी गई है। 23 जनवरी तक केवल पासधारक, एंबुलेंस के अलावा आवश्यक वस्तु वाले वाहनों को ही जाने दिया जाएगा। पैदल कोई अयोध्या न जाए, इसके लिए पुलिस लोगों से अपील कर रही है।

खबर शेयर करें -

एडीजी जोन डा. केएस प्रताप कुमार ने आनलाइन बैठक कर सभी एसपी को निर्देश दिया कि डायवर्जन का सख्ती से पालन कराएं। गोरखपुर जोन में 65 स्थानों पर डायवर्जन के लिए पुलिस ने हाईवे पर बैरियर बनाया है। 14 जनवरी से मालवाहक वाहनों को अयोध्या की ओर जाने से रोका गया था।

शनिवार की रात आठ बजे सभी वाहनों को अयोध्या की तरफ जाने से रोक दिया गया। केवल अयोध्या के रहने वाले लोगों को ही जाने की अनुमति दी जाएगी, इसके लिए उन्हें वैध पहचान पत्र दिखाना होगा। अयोध्या की तरफ के सप्लाई चेन को बनाए रखने के लिए आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं से संबंधित वाहनों तथा एंबुलेंस के वाहनों को ही सिर्फ जाने की अनुमति होगी।

ये भी पढ़ें…लाल मंदिर के नाम पर हुई लाखों की धोखाधड़ी, संत बनकर भूमि फ्रॉड में युवक को फंसाया

ऐसे जाएंगे वाहन

  • कालेसर जीरो प्वाइंट : शहर से लखनऊ की तरफ जाने वाले वाहनों को बाघागाड़ा की ओर मोड़ा जाएगा। यहां से बड़हलगंज के रास्ते पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के रास्ते गंतव्य की ओर जाएंगे।
  • बाघागाड़ा : कुशीनगर, देवरिया की तरफ से लखनऊ जाने वाले वाहनों को बड़हलगंज के रास्ते पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे होते हुए गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
  • सेक्टर-25 गीडा : गीडा क्षेत्र से निकलने वाले वाहनों को बाघागाड़ा होते हुए बड़हलगंज के रास्ते पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे होते हुए गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
  • कैंपियरगंज : सोनौली, महराजगंज के फरेंदा से आने वाले वाहनों को धानी ढाला होते हुए सिद्धार्थनगर के रास्ते गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
  • चिउटहा : महराजगंज के परतावल की ओर से आने वाले वाहनों को बरगदवा, जंगल कौड़िया होते हुए कैंपियरगंज-धानी ढाला के रास्ते गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
यह भी पढ़ें -  जंगलो में लग रही आग को लेकर नैनीताल डीएम ने अधिकारियों के साथ की बैठक

अयोध्या में होने वाले श्रीरामलला के प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आगमन को लेकर शनिवार की रात से अयोध्या जाने पर रोक लगा दी गई है। 23 जनवरी तक केवल पासधारक, एंबुलेंस के अलावा आवश्यक वस्तु वाले वाहनों को ही जाने दिया जाएगा। पैदल कोई अयोध्या न जाए, इसके लिए पुलिस लोगों से अपील कर रही है।

यह भी पढ़ें -  बिन्दुखत्ता निवासी भारतीय सेना के पैरा कमांडो की भीमताल में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत…… परिवार में मचा कोहराम

एडीजी जोन डा. केएस प्रताप कुमार ने आनलाइन बैठक कर सभी एसपी को निर्देश दिया कि डायवर्जन का सख्ती से पालन कराएं। गोरखपुर जोन में 65 स्थानों पर डायवर्जन के लिए पुलिस ने हाईवे पर बैरियर बनाया है। 14 जनवरी से मालवाहक वाहनों को अयोध्या की ओर जाने से रोका गया था।
शनिवार की रात आठ बजे सभी वाहनों को अयोध्या की तरफ जाने से रोक दिया गया। केवल अयोध्या के रहने वाले लोगों को ही जाने की अनुमति दी जाएगी, इसके लिए उन्हें वैध पहचान पत्र दिखाना होगा। अयोध्या की तरफ के सप्लाई चेन को बनाए रखने के लिए आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं से संबंधित वाहनों तथा एंबुलेंस के वाहनों को ही सिर्फ जाने की अनुमति होगी।

यह भी पढ़ें -  कोरोना खत्म नहीं हुआ ,इस नए रूप में 7 राज्यों में दस्तक ,दिखाई दे रहे हैं यह लक्षण


कालेसर जीरो प्वाइंट : शहर से लखनऊ की तरफ जाने वाले वाहनों को बाघागाड़ा की ओर मोड़ा जाएगा। यहां से बड़हलगंज के रास्ते पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के रास्ते गंतव्य की ओर जाएंगे।
बाघागाड़ा : कुशीनगर, देवरिया की तरफ से लखनऊ जाने वाले वाहनों को बड़हलगंज के रास्ते पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे होते हुए गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
सेक्टर-25 गीडा : गीडा क्षेत्र से निकलने वाले वाहनों को बाघागाड़ा होते हुए बड़हलगंज के रास्ते पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे होते हुए गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
कैंपियरगंज : सोनौली, महराजगंज के फरेंदा से आने वाले वाहनों को धानी ढाला होते हुए सिद्धार्थनगर के रास्ते गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
चिउटहा : महराजगंज के परतावल की ओर से आने वाले वाहनों को बरगदवा, जंगल कौड़िया होते हुए कैंपियरगंज-धानी ढाला के रास्ते गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।

Advertisement