सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या करने वाले दोनों आरोपी चंडीगढ़ से हुए गिरफ्तार

खबर शेयर करें -

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की जयपुर में उनके घर पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड के चार दिन बाद पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। हत्याकांड से जुड़े दो आरोपियों को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने राजस्थान पुलिस के साथ एक जॉइंट ऑपरेशन में चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया है। रोहित राठौड़ और नितिन फौजी नाम के दो लोगों ने सुखदेव की गोली मारकर हत्या की थी। अब पुलिस ने दोनों को तुरंत गिरफ्तार किया है।

चंडीगढ़ से गिरफ्तार हुए आरोपी
जानकारी के अनुसार दोनों आरोपी नवीन शेखावत नाम के व्यक्ति के माध्यम से उनके घर पहुंचे थे। हमलावरों ने भागने से पहले नवीन शेखावत को भी गोलियों से भून दिया था। अक पुलिस सूत्र से मिली रिपोर्ट में जानकारी के अनुसार एसीपी उमेश बर्थवाल के नेतृत्व में एक टीम डीसीपी अमित गोयल के नेतृत्व में चंडीगढ़ के लिए रवाना हुई और उन्होनें राजस्थान पुलिस के साथ जानकारी शेयर की। उन्होनें चंडीगढ़ के सेक्टर 22 में छापेमारी की, जहां से दो शूटरों रोहित और नितिन और उधम नाम के उनके एक सहयोगी को पकड़ लिया गया।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड यहां पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 1 किलो 300 ग्राम गांजा के साथ महिला गिरफ्तार

दिल्ली लाए जा रहे आरोपी
जानकारी के अनुसार आरोपियों को दिल्ली लाया जा रहा है और फिर उन्हें राजस्थान पुलिस को सौंप दिया जाएगा। पुलिस उनके दावों की पुष्टि कर रही है कि हत्या जातिगत प्रतिद्वंदिता के कारण हुई थी। घटना के बाद जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के करीबी गैंगस्टर रोहित गोदारा ने एक फेसबुक पोस्ट में गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी ली थी। राजस्थान पुलिस ने कहा था कि हमलावरों के पकड़े जाने के बाद इस लिंक की जांच की जाएगी।

यह भी पढ़ें -  पहाड़ में अपहरण की सनसनीखेज घटना, दो नाबालिकों का अपहरण, मांगी फिरौती, फिर हुआ क्या…

वहीं इससे पहले शनिवार को रामवीर नाम के व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि रामवीर ने ही नितिन फौजी के लिए सारे इंतजाम घटना वाले दिन करवाए थे। बता दें कि रामवीर, आरोपी नितिन का करीबी दोस्त भी है और साजिश में दोनों का हाथ रहा है।

Advertisement