सुरंग से आ रही चटकने की आवाजें, मजदूरों में डर का माहौल, क्या सिलक्यारा टनल में मंडरा रहा भूस्खलन का खतरा !

खबर शेयर करें -

सुरंग के अंदर फंसे 41 मजदूरों को बाहर निकालने की जद्दोजहद नौवें दिन भी जारी है। रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए केंद्र के साथ-साथ विदेशी विशेषज्ञ भी मौजूद हैं। लेकिन सफलता अभी भी हाथ नहीं लग पाई है। इस बीच सिलक्यारा टनल से कुछ चटकने की आवाज आ रही है। माना जा रहा है कहीं ये खतरे की घंटी तो नहीं !

.
मजदूरों में डर का माहौल
मिली जानकारी के मुताबिक एनएचआईडीसीएल के अधिकारियों के मुताबिक सुरंग से अब तक कई बार ऐसी आवाजें सुनाई दे चुकी हैं। जिसके बाद यहां भूस्खलन होने की की संभावनाएं जताई जा रही हैं। हालांकि रेस्क्यू ऑपरेशन प्रभावित न हो इसके लिए सुरक्षात्मक कार्य किए जा रहे हैं। सुरंग से आवाज आने के बाद घटनास्थल पर काम कर रहे मशीन ऑपरेटर और मजदूरों में डर का माहौल है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड -यहां लोगों ने गर्भवती महिला को डोली के सहारे 10 किलोमीटर चल सड़क तक पहुंचाया

श्रमिकों को बाहर निकलने की जद्दोजहद जारी

बता दें दीपावली के मौके पर यमुनोत्री हाईवे के सिलक्यारा बैंड के पास निर्माणाधीन सिलक्यारा सुरंग के मुहाने से 200 मीटर अंदर भारी भूस्खलन हो गया था। जिसके चलते 41 मजदूर सुरंग के अंदर ही फंसे हुए हैं। हालांकि अंदर फंसे श्रमिकों तक खाना और ऑक्सीजन पहुंचाया जा रहा है। लेकिन आठ दिन बीत जाने के बाद भी उन्हें बाहर नहीं निकाला गया है।

Advertisement